बिलासपुर

विदेश में नौकरी का ऑफर देकर ठगी करने वाले 3 अंर्तराज्यीय ठग गिरफ्तार…ऐसे देते थे वारदात को अंजाम

बिलासपुर। जिला पुलिस ने विदेशों में नौकरी लगाने के नाम से ठगी करने वाले अंर्तराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है. आरोपी फर्जी आईडी प्रूफ के माध्याम से अलग-अलग सिम खरीदते थे. बेरोजगार युवकों को नौकरी के नाम का झांसा देकर ठगी करते थे. बिलासपुर पुलिस ने 3 शातिर आरोपियों को हरियाणा से गिरफ्तार किया है.

यह भी पढ़े: सिर्फ 50 रुपये में घर बैठे बनवाएं आधार PVC कार्ड…ना फटने का डर,ना धुलने का

मिली जानकारी के मुताबिक हरियाणा के गुड़गांव से साहिल अली, हरियाणा के रफिउल इस्लाम और गुड़गांव के आलोक पाल को गिरफ्तार किया है. आरोपियों के पास से स्काईप, लैपटाॅप, मोबाइल और 3 लाख 70 हजार रुपए नगदी जब्त किया गया है.

यह भी पढ़े: Airtel यूजर्स के लिए खुशखबरी: अब फोन में बिना SIM Card डाले कर सकेंगे कॉल और डेटा यूज…ऐसे करें एक्टिवेट

शातिर ठग बेरोजगार युवकों को लगाते थे चूना

पुलिस ने बताया कि आरोपी जाॅब की साइट से नौकरी के नाम से रजिस्टर्ड किए गए युवक-युवतियों के डाटा चुराते हैं. इसके बाद लोगों को फोन कर नौकरी के नाम पर झांसा देते हैं. आरोपी बड़े शातिर तरीके से बेरोजगार युवकों को चूना लगाते थे. पंजीयन शुल्क, ट्रेनिंग शुल्क और एड़वांस शुल्क अलग-अलग खातों में पैसे जमा कराते थे.

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़: डाटा एंट्री ऑपरेटर समेत इन पदों पर निकली भर्ती…प्रति माह 22,000 रुपए सैलरी

आरसेल मित्तल कंपनी में नौकरी दिलाने का झांसा

पीड़ित आशिष सिंह ने सकरी थाने में आकर शिकायत दर्ज कराई थी. उसने बताया कि ऑनलाइन अलग-अलग कंपनियों में जाॅब के लिए आवेदन दिया था. कुछ दिनों बाद ऋषभ गुप्ता एचआर मैनेजर फ्यूचर कंपनी और महेश माथुर फाईनेसियल हेड फ्यूचर कंपनी से कॉल आया. दुबई में आरसेल मित्तल कंपनी में नौकरी दिलाने का झांसा दिया गया.

यह भी पढ़े: Micromax ला रहा है ‘इंडिया का नया ब्लॉकबस्टर’ स्मार्टफोन…19 मार्च को होगा लॉन्च

ऑफर लेटर और ज्वॉइनिंग के नाम पर ठगी

युवक ने बताया कि 80 लाख रुपये सालाना के पैकेज का जाॅब इंटरव्यू कहकर रजिस्ट्रेशन, डिग्री, एक्सपेरियंस सर्टिफिकेट, वेरिफिकेशन, एप्टिट्यूट टेस्ट इंटरव्यू प्रिपेशन ट्रेनिंग, फाइनल प्लेसमेंट ऑफर लेटर और ज्वॉइनिंग के नाम पर 5 लाख 67 हजार 104 रुपये की धोखाधड़ी की गई.

यह भी पढ़े: Road Safety World Series: क्रिकेट टी-20 वर्ल्ड सीरीज के लिए आज से लीजिए फ्री में पास

साइबर सेल की मदद से आरोपियों की गिरफ्तारी

बिलासपुर पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने जांच टीम गठित की थी. इसके बाद साइबर सेल की मदद से आरोपियों की तलाश शुरू की गई. पुलिस विशेष टीम तैयार कर दिल्ली-हरियाणा गई. जहां से साइबर सेल की मदद से आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की.

यह भी पढ़े: Airtel का शानदार प्लान: सिर्फ 1 रुपया और देने से बढ़ जाएगी 28 दिन की वैलिडिटी

ऑनलाइन जॉब फ्राड से बचने के तरीके

एसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि बेरोजगार लोगों को ये शातिर ठग निशाना बनाते हैं. ऑनलाइन आवेदन कर रहे लोगों से ठगी करते हैं. आरोपी ऑनलाइन आवेदन, मोबाइल नंबर, ईमेल और अन्य माध्यम से लोगों को झांसे में लेते हैं. अब आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

यह भी पढ़े: 10,000 इंटरनेशनल रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनीं मिताली राज

कार्रवाई में ये अधिकारी रहे मौजूद

इस कार्रवाई में तारबाहर थाना प्रभारी निरीक्षक कलीम खान, उप निरीक्षक प्रभाकर तिवारी, सागर पाठक, मनोज नायक, अजय वारे, सत्येन्द्र परिहार सउनि अवधेश सिंह सायबर सेल से आरक्षक नवीन एक्का, दीपक उपाध्याय, गोविंद शर्मा, सोनू पाल, तदबीर पोर्ते का विशेष योगदान रहा.

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़: पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर का छत्तीसगढ़ में सम्मान…आंतरिक डेब्यू के 50 वर्ष पूरे होने पर मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *