Press "Enter" to skip to content

आयकर विभाग की कार्यवाही के बाद राजस्व विभाग हुआ सख्त…तहसीलदार ने 3 मंजूरी प्रकरणों को खारिज करने कलेक्टर को भेजा प्रतिवेदन

जांजगीर चांपा: राम लखन पिता गणेश राम गोंड ग्राम केरीबंधा के नाम पर बेनामी रूप से करीब 25 ग्रामों मे जमीन खरीदने वाले स्टांप वेंडर जगदीश बंसल की जमीने आयकर विभाग द्वारा कुर्क कर लिए जाने के पश्चात कलेक्टर प्रशासन,राजस्व विभाग आदिवासीयो के जमीनों की बिक्री मंजूरी के प्रकरणों मे कठोर नजर आ रहा है।

इसे भी पढ़े: सक्ती के समीप ग्राम जेठा मे बड़ा हादसा: ट्रक और बोलेरो मे हुई जबरदस्त भिडंत…3 की मौत,2 की हालत गंभीर…आरोपी ट्रक ड्राईवर गिरफ्तार

तहसीलदार सक्ती ने तीन मंजूरी प्रकरणों को खारिज किए जाने हेतु प्रतिवेदित किया है। जिसमें

  1. रामसिंह पिता बैगाराम कंवर साकिन जर्वे की ग्राम सक्ती स्थित मूल् विक्रय किए जाने की अनुमति
  2. हेमराज सिंह पिता शिवनाथ गोंड ग्राम भेड़ापाली की ग्राम अंजोरी पाली एवं पुजेरी पाली की भूमि विक्रय मंजूरी
  3. मांगे राम सिदार पिता महुत राम ग्राम जोबी तहसील खरसिया के ग्राम चारपारा की भूमि विक्रय मंजूरी

आवेदन पत्र मे विक्रेताओं द्वारा कोई रुचि नहीं लिए जाने तथा क्रेताओं के द्वारा विशेष रूचि दिखाए जाने से बेनामी अंतरण निर्धारित कर भूमि विक्रय मंजूरी नहीं दिए जाने का प्रतिवेदन भेजा है।

इसे भी पढ़े: सक्ती में अवैध प्लाटिंग की रेड कारपेट बिकने के लिए सज कर तैयार…जिम्मेदार अधिकारी नही ले रहे अवैध कच्ची सड़क उखाड़ने में रुचि।

भूमि क्रय मंजूरी मे विशेष रूचि दिखाने वाले गणेश राम अग्रवाल पिता हजारीलाल, रवि कुमार बंसल पिता गोविंद राम बंसल और रवि मित्तल के प्रकरण निरस्त किए गए हैं।

इसे भी पढ़े: सीमांकन दल ने उत्पन्न की अजीबो गरीब स्तिथि: मुख्य मार्ग में बताया आवेदक की निजी भूमि…क्या वाकई बंद हो सकता है सक्ती कोरबा मुख्य मार्ग…जानिए पूरा मामला।

More from जांजगीर चांपाMore posts in जांजगीर चांपा »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *