सक्ती

CG के तीर्थ यात्रियों से उड़ीसा मे मारपीट: रामेश्वरम से वापस लौट रहे थे…उगाही को लेकर हुआ विवाद…BJP प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने संज्ञान लेने की अपील

छत्तीसगढ़ के तीर्थ यात्रियों से पड़ोसी राज्य ओडिशा मे मारपीट का मामला सामने आया है। ये तीर्थ यात्री सक्ती जिले के ग्राम मल्दा के रहने वाले है। कृष्ण लीला मंडली रामेश्वरम तीर्थ से उड़ीसा के रास्ते वापस लौट रही थी। उसी समय यह पूरा विवाद हुआ है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने अपने ट्विटर अकाउंट से घटना का वीडियो शेयर करते हुए ओडिशा प्रशासन से इस मामले मे तत्काल संज्ञान लेने की अपील की है।

जानकारी के मुताबिक, सक्ती जिले के ग्राम मल्दा के रहने वाले तीर्थ यात्री तीर्थ यात्रा करने के लिए रामेश्वरम गए हुए थे। रामेश्वरम से तीर्थ यात्रा कर कृष्ण लीला मंडली ओरिसा के रास्ते वापस लौट रही थी। तीर्थ यात्री ओरिसा राज्य के कटक जिले के मंगोली नाका के पास पहुंचे तो टोल नाका को देखकर रुक गए।

तीर्थ यात्रियों के मुताबिक टोल नाका के कर्मचारियों द्वारा ज्यादा पैसों की मांग की जा रही थी। इसी बात को लेकर विवाद हो गया। तीर्थ यात्रियों ने मामले की जानकारी जिला प्रशासन और स्थानीय पुलिस को दी। लेकिन उनके पहुंचते तक टोल नाका का ठेकेदार कुछ लोगों को लाकर उनके साथ मारपीट करने लगा।

वीडियो मे मारपीट करते दिख रहे लोग

वायरल वीडियो मे भारी संख्या मे कुछ लोग तीर्थ यात्रियों के साथ डंडे लेकर मारपीट करते हुए दिखाई दे रहे है। उन्होंने महिलाओं और बच्चों को भी नही छोड़ा, उनके साथ भी मारपीट की है। फिलहाल कटक थाना प्रभारी मौके पर पहुंच चुके है, मामले की जांच की जा रही है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने ओडिशा प्रशासन से की अपील

वही इस पूरी घटना का वीडियो शेयर करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने उड़ीसा प्रशासन से मामले मे संज्ञान लेने की अपील की है। अरुण साव ने लिखा कि “ छत्तीसगढ़ (सक्ती) के तीर्थ यात्रियों के साथ हुई हिंसा बेहद निंदनीय है। मैं उड़ीसा प्रशासन से इस मामले मे तत्काल संज्ञान लेने की अपील करता हूं। पड़ोसी राज्यों के यात्रियों के सुरक्षा की जिम्मेदारी दोनों राज्य की है। तीर्थ यात्री अभी दहशत मे है स्थानीय पुलिस सहयोग नहीं कर रही है।

Pradeep Sharma

SNN24 NEWS EDITOR

Related Articles

Check Also
Close
Back to top button