छत्तीसगढ़भारत

कलेक्टर ने ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को किया निलंबित…एसडीओ समेत चार को कारण बताओ नोटिस…जाने पूरा माजरा।

अम्बिकापुर। कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी (एसएडीओ) तथा आरएईओ (ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी) की बैठक लेकर गोधन न्याय योजना की समीक्षा की।

इसे भी पढ़े: वित्त सेवा संवर्ग के 3 दर्जन से अधिक अधिकारी क्रमोन्नत…कई अफसरों के तबादले भी…राज्य सरकार ने जारी किया आदेश।

उन्होंने गोबर खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि गोधन न्याय योजना का नोडल विभाग कृषि विभाग ही है एवं गोबर खरीदी से लेकर वर्मी कम्पोस्ट निर्माण एवं बिक्री की जिम्मेदारी भी इसी विभाग को है।

इसे भी पढ़े: DGP अवस्थी के निलंबन आदेश के खिलाफ DSP ने हाईकोर्ट में दायर की थी याचिका…हाईकोर्ट का आदेश…“तत्काल बहाल करें”…जानिए पूरा मामला।

अधिकारियों की उदासीनता के कारण अपेक्षित प्रगति नहीं आ पा रही है। उन्होंने सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले कंठी गोठान के आरएईओ को निलंबित करने तथा मेण्ड्रा खुर्द, रामपुर, थोर, रनपुरकला गोठान के आरएईओ सहित अम्बिकापुर जनपद के एसएडीओ को कारण बताओ सूचना जारी करने के निर्देश दिए। वहीं ऐसे आरएईओ जिन्होंने अब तक वर्मी खाद का सैम्पल लैब में नहीं भेजा उन सब की वेतन रोकने के भी निर्देश दिए।

इसे भी पढ़े: 11 अफसरों का तबादला: बिलासपुर,दुर्ग सहित कई निगमों के कमिश्नर बदले…कई डिप्टी कलेक्टर भी बदले…राज्य सरकार ने जारी किया आदेश…देखिए पूरी लिस्ट।

कलेक्टर ने वर्मी कम्पोस्ट बनाने में कमजोर प्रदर्शन वाले सभी आरएईओ को एक-एक करके गोधन न्याय योजना, योजना की शुरूआत तथा वर्मी खाद बनाने की प्रक्रिया की जानकारी ली। कई आरएईओ को योजना की शुरूआत तथा वर्मी टांके में केंचुआ की सही मात्रा की जानकारी नहीं थी।

इसे भी पढ़े: निलंबित कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक को राज्य सरकार ने किया बहाल…आदेश जारी।

उन्होने कहा कि गोबर खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के लिए प्रत्येक गोठान के लिए एक-एक आरएईओ को नोडल अधिकारी बनाया गया है तथा वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के लिए विधिवत प्रशिक्षण भी दिया गया है। इसके बावजूद भी नोडल अधिकारी को शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले योजना की जानकारी न होना आश्चर्यजनक है।

इसे भी पढ़े: छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला: CM भूपेश की मंत्रियों-अफसरों के साथ उच्च स्तरीय बैठक…मास्क नहीं लगाने पर कार्रवाई करने कलेक्टरों को जारी हुआ निर्देश… बार्डर पर टेस्टिंग।

उन्होंने एसएडीओ एवं आरएईओ को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि शासन के मंशानुरूप गोबर खरीदी एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण का चक्र चलते रहना चाहिए ताकि गोठान आत्मनिर्भर बन सके। गोठानो में गोबर खरीदी नियमित रूप से करें।

इसे भी पढ़े: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अहमदाबाद स्थित दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम Motera Cricket Stadium का किया उद्घाटन

गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वर्मी खाद तैयार होने के बाद पैकिंग का काम शीघ्र शुरू करें। गोठानों में निर्मित वर्मी खाद की बिक्री की व्यवस्था भी करें।

इसे भी पढ़े: छत्तीसगढ़ मे कोरोना संक्रमित छात्र भी दे सकेंगे 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षा…माध्यमिक शिक्षा मंडल ने जारी किया आदेश

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *