Press "Enter" to skip to content

रेलवे में नौकरी लगाने का झांसा देकर लाखों की ठगी करने वाला पूर्व रेलवे कर्मचारी गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी रायपुर में ठगी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आज एक तरफ जहां तीन बेरोजगारों से लाखों की ठगी करने वाले एक आरोपित की गिरफ्तारी हुई है, तो वहीं दूसरी ओर गूगल पे के जरिए 55 हजार रुपए की ठगी किए जाने का नया मामला सामने आया है। ठगी का पहला मामला देवेंद्र नगर पुलिस थाना इलाके का है, जहां तीन बेरोजगारों को रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर छह लाख रुपये की ठगी की गई थी।

इसे भी पढ़े: Fashion World: छत्तीसगढ़ की ज्योति प्रकाश ने पहना मिसेस इंडिया यूनिवर्स का ताज

इस मामले में गुरुवार को आरोपित राजेश नायक की गिरफ्तारी दुर्ग जिले से हुई है। आरोपित पूर्व रेलवे कर्मचारी है। आरोपित बेरोजगार युवाओं की मजबूरी का फायदा उठाकर नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करता था। आरोपी के खिलाफ थाने में धारा 420 का मामला दर्ज कर लिया गया है।

इसे भी पढ़े: अब 24 घंटे मिलेगा राशन…लाइन में लगने की जरूरत भी नहीं…ऑटोमेटिक मशीनें बांटेंगी अनाज

दूसरा मामला उरला थाना इलाके के बाजार चौक भाठापारा का है। गूगल पे का कस्टमर केयर का अधिकारी बनकर ठगी की गई है। दरअसल, यूनिक स्ट्रेक्चर प्रालि के कर्मचारी ने गूगल पे के माध्यम से एक व्यक्ति को पैसे भेजे थे, लेकिन पैसे कटने के बाद ट्रांजेक्सन सफल नहीं होने पर उन्होंने कस्टमर केयर का नंबर गूगल से खोजकर निकाला और कॉल किया। कॉल करते ही उनके अकाउंट से करीब 55 हजार रुपये पार हो गए।

इसे भी पढ़े: बिलासा एयरपोर्ट में आज से ट्रायल शुरू…1 मार्च से शुरू हो जाएंगी उड़ान

प्राप्त जानकारी के अनुसार, भाठापारा निवासी कर्मचारी ने कुछ दिन पहले कस्टमर केयर का नंबर गूगल से निकाला था। अज्ञात ठग के खिलाफ उरला थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है। कर्मचारी ने अपने परिचित के खाते में पांच सौ रुपये गूगल पे किए थे, लेकिन पैसा नहीं जाने से उन्होंने गूगल से कस्टमर केयर का नंबर निकालकर कॉल किया।

इसे भी पढ़े: “बिलासा देवी केंवट एयरपोर्ट” के नाम से जाना जाएगा बिलासपुर का एयरपोर्ट…पहले फ्लाइट की सफल लैंडिंग पर CM भूपेश ने जताई खुशी

इसके बाद कर्मचारी के खाते से 55 हजार रुपये निकलने का संदेश आया। यह देखकर वह दंग रह गया। पीड़ित की शिकायत पर अज्ञात ठग के खिलाफ धारा 420 के दहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया गया है।

इसे भी पढ़े: रायपुर निगम के 20 करोड़ के लक्ष्य में 1 करोड़ की भी नहीं हुई वसूली… सख्ती बरतने ‘नो मनी नो वेस्टेज’ का फार्मूला हुआ लागू।

More from भारतMore posts in भारत »
More from रायपुरMore posts in रायपुर »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *