Press "Enter" to skip to content

इंसानो कि तरह अब भेड़-बकरियों के भी बनाएं जाएंगे आधार कार्ड…केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का मिलेगा लाभ…देखें पूरी जानकारी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार भेड़-बकरियों को भी आधार नंबर एलॉट करने जा रही है। दस अंकों वाला ये आधार नंबर भेड़- बकरियों की पहचान करने में सहायक होगा। दरअसल नेशनल एनिमल डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम (NDCP) में भेड़-बकरियों को भी शामिल किया गया है, इससे पहले NDCP में सिर्फ गोवंश और महीष वंशीय पशुओं को ही ये सुविधाएं दी जा रही थी। पशुपालकों को दी जाने वाली सुविधा इस महीने से ही शुरु हो रही है।

READ MORE NEWS: https://www.snn24.in/facebook-turns-17-today-mark-zuckerberg-changed-social-media-style/

भेड़-बकरियों को भी आधार नंबर एलॉट किए जाने से पशुपालकों को अपने पालतू पशुओं को खो जाने की चिंती से निजात मिलेगी। अब NDCP के तहत गोवंश और महीष वंश के अलावा भेड़ और बकरियों का रिकॉर्ड भी पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा। इस पोर्टल पर भेड़-बकरी की उम्र और मालिक का नाम-र पता भी ऑनलाइन दर्ज होगा, गोवंश और महीष वंश की तरह भेड़-बकरियों को भी खुरपका-मुंहपका की वैक्सीन लगाई जाएगी।

READ MORE NEWS: https://www.snn24.in/double-shock-of-inflation-lpg-cylinder-and-petrol-diesel-prices-rise-again-learn-new-price/

कॉलर आईडी की तर्ज पर भेड़-बकरियों को 10 डिजिट का नंबर दिया जाएगा। इन जानवरों के कान में एक छल्ले पर 10 डिजिट का नंबर लिखा होगा। ब्लॉक स्तर पर पशुओं के अस्पताल में हर गांव की भेड़ और बकरी का रजिस्टर बनाकर रिकॉर्ड रखा जाएगा। बता दें कि केंद्र सरकार ने नेशनल एनिमल डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम को 2019 में लांच किया था।

More from छत्तीसगढ़More posts in छत्तीसगढ़ »
More from भारतMore posts in भारत »
More from राज्यMore posts in राज्य »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *