सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल सक्ती मे स्वास्थ्य शिविर: मोबाइल मेडिकल यूनिट ने 150 विद्यार्थियों का किया स्वास्थ्य परीक्षण…निःशुल्क दवाइयों का किया वितरण

सक्ती। जिले के सरस्वती शिशु मंदिर सक्ती मे आज छत्तीसगढ़ सरकार की मंशा के अनुरूप मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम के द्वारा स्कूली बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इस अवसर पर व्यवस्थापक चितरंजय पटेल ने विद्यालय परिवार की ओर से मोबाइल मेडिकल यूनिट के क्षेत्रीय परियोजना अधिकारी शुभम साहू, चिकित्सक डॉ यामीन अब्दुल्लाह, लेब टेक्नीशियन ममता राठौर, एएनएम नीता सोनवानी, फार्मासिस्ट जगदीश चंद्रा, चालक/सहायक बजरंग जायसवाल का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम ने विद्यालय परिसर मे कैंप लगाकर लगभग 150 विद्यार्थी, शिक्षक और अभिभावकों का स्वास्थ्य परीक्षण कर निःशुल्क दवाओं का वितरण किया। इनमें करीब तीस लोगों का विभिन्न प्रकार का लैब परीक्षण किया गया। क्षेत्रीय परियोजना अधिकारी शुभम साहू ने बताया कि मोबाइल मेडिकल यूनिट के लैब मे 41 प्रकार का टेस्ट किया जाता है, जांच के बाद बीमारी का पता लगने पर निःशुल्क दवाई भी दिया जाता है।

सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल सक्ती के व्यवस्थापक चितरंजय पटेल ने आज के स्वास्थ्य परीक्षण शिविर की सुविधा प्रदान करने के लिए जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. सूरज राठौर के प्रति विद्यालय परिवार की ओर से आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना ऐसी स्वास्थ्य सुविधा है जिसका लाभ आमजनों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो रहा है।

मिल का पत्थर साबित हो रही योजना

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लोगों के प्रति संवेदनशील सोच से आज प्रदेश के हर वर्ग के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही है। प्रदेश में लोगों को घर के नजदीक ही निःशुल्क और उत्तम स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए छत्तीसगढ़ शासन लगातार प्रयासरत है। शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों के लिए राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की शुरूआत की गई है। जिसके माध्यम से लोगों को घर के नज़दीक ही बेहतर और निःशुल्क इलाज व लैब टेस्ट की सुविधा मिल रही है।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों को घर के नज़दीक ही उत्तम स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना 01 नवंबर 2020 से शुरू की गई थी। जिसके तहत मोबाइल मेडिकल यूनिट (एमएमयू) एम्बुलेंसों के जरिए डॉक्टर अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना का विस्तार नगर निगमों के बाद अब नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों तक किया गया है। नागरिकों को मोबाइल मेडिकल यूनिट के द्वारा कैम्प के माध्यम से निःशुल्क परामर्श, उपचार, दवाइयां और लैब टेस्ट की सुविधा प्रदान की जा रही है।

You may have missed