Press "Enter" to skip to content

संक्रमित शवों का ठीक से नहीं हो रहा दफान, कुत्ते नोच रहे अंग

जांजगीर चांपा ।कुछ भी नहीं है तेरा बस दो गज जमीं है तेरी, ये भी मिल जाए तुझको वो भी नहीं जरूरी । किसी शायर की यह पंक्ति जिले में कोरोना से मृत हुए कुछ बदनसीब लोगों पर चरितार्थ हो रही है। उन्हें मौत के बाद भी सही ढंग से दफन नहीं किया जा रहा है। जिसके चलते कुत्ते भी दपᆬन लाश के अंगो को खींचकर ले जा रहे हैं। इस हृदय विदारक वाकये के बाद आनन पᆬानन में जेसीबी से गड्ढा खोदकर बाहर निकल गए लाश को पिᆬर से गड्ढा खोदकर दपᆬनाया गया।

कोरोना से मृत लोगों में कुछ ऐसे अभागे हैं जिनके स्वजन शव को संक्रमण व आर्थिक कमजोरी की वजह से नहीं ले जा पाते ऐसे शवों का अंतिम संस्कार प्रशासन की देखरेख में किया जाता है। मगर इसमें भी जमकर लापरवाही बरती जा रही है। मानवता को शर्मसार करते हुए एक गड्ढे में दो – दो लाशों को दपᆬन कर दिया जा रहा है। जबकि शव के दपᆬन के लिए कम से कम पांच पᆬीट गहरा गड्ढा खोदा जाना आवश्यक है। ये गड्ढे भी जेसीबी से खोदे जाते हैं। मगर लापरवाही के चलते ये गड्ढे भी ढंग से नहीं खोदे जा रहे हैं। जांजगीर रानी तालाब के पार में कोरोना से मृत लोगों को दपᆬन किया जा रहा है। वार्ड के धनेश्वर देवांगन , धनंजय देवांगन व अन्य लोगों ने बताया कि एक गड्ढे में दो – दो शव को दपᆬन कर दिया गया है। ठीक से शवों को नहीं दपᆬनाए जाने के कारण दुर्गंध भी आ रही है। वहीं आज सुबह एक घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया। एक शव के हाथ की कलाई को एक कुत्ते को खाते हुए लोगों ने देखा तो उनके पैरों तले जमीन निकल गई। कुछ लोगों ने दूर से उसका वीडियो भी बनाया। वहीं इसकी जानकारी वार्ड पार्षद जितेन्द्र देवांगन को भी दी गई। सूचना पर प्रशासन हरकत में आया और आनन पᆬानन में शव को पिᆬर से गड्ढा खोदकर दपᆬन किया गया और मिट्टी के ऊपर ब्लीचिंग पावडर का छिडक़ाव किया गया। पार्षद देवांगन ने बताया कि उन्होंने यहां शव दपᆬन नहीं करने की मांग प्रशासन से की है। मगर यहां शवों का दपᆬन अनवरत जारी है जबकि यहां जगह की कमी है। ठीक से शव दपᆬन नहीं होने के चलते संक्रमण पᆬैलने का भी खतरा है।

” संक्रमित शवों को पांच पᆬीट गड्ढे में दपᆬन किया जाता है। एक गड्ढे में दो शवों के दपᆬन की बात सही नहीं है। कुत्ते द्वारा शव के अंग को बाहर निकालने की शिकायत उन्हें भी मिली है। इसका वीडियो भी प्राप्त हुआ है यह जांच का विषय है। शवों के दपᆬन के लिए दूसरा स्थान तलाश कर रहे हैं।

मेनका प्रधान

एसडीएम , जांजगीर

More from जांजगीर चांपाMore posts in जांजगीर चांपा »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *