Press "Enter" to skip to content

छत्तीसगढ़ में पहली बार पुलिस की वर्दी में दिखेंगे किन्नर…15 किन्नर बने पुलिस आरक्षक

रायपुर। किन्नरों को अभी तक आपने अपनी आजीविका के लिए ट्रेन पर लोगों के सामने ताली बजाकर हाथ फैलाते देखा होगा. आपकी खुशियों पर नाचते-गाते देखा होगा. अब वही तृतीय लिंग समुदाय के लोग अपनी सेवा छत्तीसगढ़ पुलिस में देंगे. छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग ने अपने कालम में तृतीय लिंग का ऑप्शन दिया था. जिसके बाद अभ्यर्थियों ने आवेदन दाखिल किया. फिर कड़ी मेहनत और लगन से पुलिस के बौद्धिक और शारीरिक परीक्षा पास किया. पुलिस भर्ती परीक्षा के अंतिम परिणाम में राज्य भर से 15 किन्रर का चयन हुआ है.

इसे भी पढ़े: Jio यूजर्स के लिए बड़ी खुशखबरी: अब फोन में बिना सिम डाले आप किसी को भी कर सकेंगे कॉल

पुलिस भर्ती में शामिल प्रतिभागियों ने भारतवर्ष और विश्व को यह संदेश दिया है कि उन्हें अपने हुनर दिखाने का मौका मिले, तो वे स्त्री-पुरुष से कंधा से कंधा मिलाकर चल सकते हैं. वे भी सम्मानपूर्ण जीवन के हकदार हैं. तृतीय लिंग व्यक्ति को समाज में कलंक माने जाने के कारण वे परिवार और समाज से बहिष्कृत हो रहे हैं. वे पूरी तरह से सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक जीवन में प्रतिभागी होने से वंचित रहे हैं.

इसे भी पढ़े: चीन का साइबर अटैक: मुंबई के साथ पूरे देश में बिजली गुल करने की थी साजिश…सीईआरटी ने किया था आगाह

चयनित प्रतिभागी कृषि तांडी कहती है कि मैं आज बहुत खुश हूँ. मेरे पास कोई शब्द ही नहीं है कि मैं इस खुशी को व्यक्त कर पाऊँ. मैं और मेरी सभी साथियों ने इस परीक्षा के लिए बहुत मेहनत किया. यह हमारे लिए ऐसा अवसर था जिससे हमारी जिंदगी बदल सकती थी. इसलिए सबने दिन-रात मेहनत की थी. धमतरी से चयनित होने वाली कोमल साहू कहती है कि यह ऐसी खबर है जिस पर अभी भी भरोसा नहीं हो रहा है, क्योंकि मैंने कभी नहीं सोचा था कि इज्जत और सम्मान का जॉब मिलेगा.

इसे भी पढ़े: 5 पुलिसकर्मी निलंबित…पशु तस्करों से पैसा लेकर छोड़ने का लगा आरोप…Video वायरल होने पर एसएसपी ने की कार्यवाही

किन्नर समाज व मितवा समिति ने छत्तीसगढ़ सरकार और गृह विभाग को धन्यवाद किया है. उन्होंने उन सभी लोगों का धन्यवाद दिया है जिनका सहयोग रहा. तृतीय लिंग व्यक्तियों को पुलिस में भर्ती करवाने का सपना देखने वाली और इस सपने को साकार करने के लिए मेहनत करने वाली ट्रान्सजेंडर अधिकार कार्यकर्ता व मितवा समिति की अध्यक्ष विद्या राजपूत ने सभी प्रतिभागियों को बधाई दिया है.

इसे भी पढ़े: CBI ने दक्षिण पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी के खिलाफ किया मामला दर्ज…फर्जी भुगतान का है आरोप

जिन तृतीय लिंग प्रतिभागियों का पुलिस में चयन हुआ है उसमें रायपुर से दीपिका यादव, साहू, निशु क्षत्रिय, शिवन्या पटेल, नैना सोरी, सोनिया जंघेल, कृषि तांडी, सबुरी यादव, बिलासपुर से सुनील, रुचि यादव, धमतरी जिले से कोमल साहू, अंबिकापुर से अक्षरा, राजनांदगांव जिले से कामता, नेहा और डोली शामिल है.

इसे भी पढ़े: आयकर विभाग की कार्यवाही के बाद राजस्व विभाग हुआ सख्त…तहसीलदार ने 3 मंजूरी प्रकरणों को खारिज करने कलेक्टर को भेजा प्रतिवेदन

More from रायपुरMore posts in रायपुर »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *