रायपुर

आबकारी विभाग की बड़ी कार्यवाही: एक ट्रक शराब जब्त…ले जाना था अरुणाचल प्रदेश पहुंची बस्तर

रायपुर। आबकारी व पुलिस विभाग के संयुक्त दल ने रविवार रात को शराब तस्करी के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है। आबकारी विभाग ने शहर से सटे आसना जंगल में उतारी जा रही एक ट्रक शराब जब्त की है। एक कार से भी 10 पेटी शराब भी जब्त की गई है। बताया जा रहा है कि शराब को अरुणाचल प्रदेश के लिए रवाना किया गया था।

यह भी पढ़े: तिरुपति बालाजी से अगवा शिवम की 15 दिनों बाद हुई सकुशल वापसी…आंध्रप्रदेश पुलिस ने पिता को सौंपा

जिला आबकारी अधिकारी आशीष कोसम ने बताया कि अवैध शराब की तस्करी की सूचना पर रात को बोधघाट थाना पुलिस के सहयोग से सघन सर्चिंग अभियान चलाया गया। दल ने रात करीब 1.45 बजे करपावंड मार्ग में बोरपदर गांव के पास एक कार की तलाशी ली जिसमें गोवा ब्रांड की 10 पेटी शराब मिली। मौके से आरोपित युवराज यादव को पकड़ा गया। जिस कार से शराब जब्त की गई उसके दो नंबर प्लेट हैं। कार में नंबर था सीजी 07- 9261 जबकि एमएच 49 एफ-1640 कार का असली नंबर है। आरोपित युवराज से पूछताछ में पता चला कि आसना जंगल में एक ट्रक शराब उतारी जा रही है।

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़ मे अब आबकारी अमले को मिलेंगे आधुनिक हथियार

आसना जंगल में दबिश दी गई तो वहां ट्रक क्रमांक जीजे 98- 4866 मिली। ट्रक में 539 पेटी गोवा ब्रांड की शराब मिली। दोनों प्रकरण मिलाकर 26352 पेटी शराब जब्त की गई है। इसकी कुल कीमत 31 लाख 62 हजार 240 रुपये है। ट्रक से दो आरोपित रोहित सुधाकर बाबर व अतुल धुरिया को गिरफ्तार किया गया है। कोसम ने बताया कि गोवा से निकले माल की बिल्टी व परमिट अरुणाचल प्रदेश के नाम पर था। आरोपितों ने बताया कि उनका काम जंगल में शराब डंप करने का था। बाद में कोई ईश्वर नाम का व्यक्ति उसे उठा लेता।

यह भी पढ़े: तीन गुना बढ़ा प्लेटफॉर्म टिकट का दाम: स्टेशन में प्लेटफॉर्म टिकट अब 10 की जगह 30 रुपये में मिलेगा…जानिए वजह

नागपुर कार्टल सक्रिय

इस कार्रवाई का नेतृत्व कर रहे आबकारी सब इंस्पेक्टर रवि पाठक ने बताया कि बस्तर में अवैध शराब की तस्करी में नागपुर कार्टल सक्रिय है। जांच में ईश्वर व रघुनाथ दो नाम सामने आए हैं। इनकी पतासाजी की जा रही है। नागपुर के तस्कर अवैध शराब लाकर यहां जंगल में उतार देते हैं। उनके स्थानीय सहयोगी वहां से माल बाजार में पहुंचा देते हैं। अब जो दो नाम सामने आए हैं उनकी खोज खबर ली जा रही है। उनका पता चलते ही तस्करी के बड़े रैकेट का पर्दाफाश हो जाएगा। फिलहाल आरोपितों से पूछताछ जारी है।

यह भी पढ़े: बैंक यूनियनों की निजीकरण के विरोध में दो दिनी हड़ताल…करोड़ों का लेन-देन हो सकता है प्रभावित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *