Press "Enter" to skip to content

MBBS छात्र ने हॉस्टल में फांसी लगाकर की खुदकुशी…कमरे से सुसाइड नोट भी बरामद

राजस्थान के जोधपुर में डॉक्टर एसएन मेडिकल कॉलेज में एक छात्र ने फंदा लाकर आत्महत्या कर ली. वह एमबीबीएस फाइनल ईयर का छात्र था. छात्र के पास एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है जिसमें उसने लिखा है कि मैं पिछले 2 महीने से बहुत परेशान हूं. अब मैं और नहीं जी सकता. जालौर जिले के रामसीन का रहने वाला गेनाराम देवासी शनिवार शाम 7:30 बजे आखिरी बार अपने साथी छात्रों से मिला था.बताया जा रहा है कि इस दौरान वह बाजार से एक रस्सी खरीदकर लेकर आया था. उसके बाद उसने खुद को कमरे में बंद कर लिया. छात्र का रूम पार्टनर उसका नजदीक का रिश्तेदार है. रूम पार्टनर जब पहुंचा तो कमरा अंदर से बंद था. खटखटाने पर जब दरवाजा नहीं खुला तो आखिरकार कुछ छात्रों ने मिलकर दरवाजा तोड़ दिया. सामने गेनाराम पंखे से लटका हुआ मिला.

इसे भी पढ़े: 19 मेडिकल फर्मों के लाइसेंस निरस्त…6 दुकानें 15 दिन के लिए निलंबित…खाद्य एवं औषधि प्रशासन की बड़ी कार्रवाई…देखें सूची

इसके बाद इस मामले की सूचना मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन को दी गई. मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ जी एल मीणा, यूजी हॉस्टल के वार्डन और अन्य डॉक्टर मौके पर पहुंचे. साथ ही इस मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. सूचना मिलते ही शास्त्री नगर की पुलिस मौके पर पहुंची.

इसे भी पढ़े: रायपुर में 1 मार्च से ये लोग लगवा सकते हैं कोरोना वैक्सीन…3 सरकारी समेत 5 निजी अस्पताल में लगाई जाएगी वैक्सीन

पुलिस की मौजूदगी में गेनाराम का शव को नीचे उतारा गया. कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है जिसमें गेनाराम ने लिखा है कि मम्मी, पापा और चाचू सॉरी, मैं पिछले 2 महीने से बहुत परेशान हूं. अब मैं और नहीं जी सकता. छात्रों ने बताया कि गेनाराम पिछले कई दिनों से मानसिक रूप से परेशान चल रहा था जिसके चलते उसने इस बार एग्जाम भी नहीं दिए. लेकिन किसी ने यह नहीं सोचा था कि वह इतना बड़ा कदम उठा लेगा. फिलहाल, शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

इसे भी पढ़े: शक्कर सप्लाई के नाम पर ठगी…कारोबारियों से करीब 50 करोड़ रुपए ऐंठने वाला आरोपी गुजरात से गिरफ्तार

 

More from राजस्थानMore posts in राजस्थान »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *