बिलासपुर

महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर से प्याज संकट

बिलासपुर। महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर जिस तेजी के साथ बढ़ रही है और नागपुर में एक सप्ताह का लाकडाउन चल रहा है इसे देखते हुए प्याज की आपूर्ति पर असर होने लगा है। महाराष्ट्र के नासिक व आसपास का पूरा इलाका प्याज उत्पादक किसानों का है। महाराष्ट्र से देशभर में प्याज की आपूर्ति की जाती है। अकेले बिलासपुर में प्रतिदिन 140 से 150 टन प्याज नासिक से पहुंचता था। बीते दो दिनों से आपूर्ति 115 से 120 टन रह गई है।

थोक मंडी में नासिक से नई फसल की आवक हो रही है लेकिन खुदरा बाजार में प्याज प्रति किलोग्राम 35 से 40 रुपये पहुंच गया है। दो दिन पहले तक भाव 20 से 25 रुपये किलो तक गिर गया था। वहीं चार दिन पहले थोक मंडी में प्याज की कीमत प्रति किलोग्राम 10 से 15 रुपए थी। यह बढ़कर प्रति किलोग्राम 15 से 18 रुपए हो गई है।

मांग का दबाव

थोक मंडी में आपूर्ति कम हो गई है लेकिन मंडियों में मांग पहले की तरह बनी हुई है। इसका असर दाम पर हो रहा है। थोक मंडी व्यापार विहार से सूरजपुर, पत्थलगांव, कुनकुरी, कासांबेल समेत सरगुजा संभाग की अन्य मंडियों में भी आपूर्ति होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *