Press "Enter" to skip to content

पांच साल से रायपुर एयरपोर्ट पर खड़ा है प्लेन…पार्किंग चार्ज डेढ़ करोड़ रुपए…अब विमान बेचकर चुकाएगी बांग्लादेशी कंपनी

रायपुर। बांग्लादेशी फ्लाइट की 2015 में रायपुर एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग हुई थी। विमान में सवार सभी 173 यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया था। उसके बाद से यह विमान रायपुर एयरपोर्ट पर ही है। इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। 8 विमान की पार्किंग क्षमता वाले रायपुर एयरपोर्ट पर बंग्लादेशी प्लेन ने जगह घेर रखा है। एयरपोर्ट प्रशासन की तरफ से बार-बार बांग्लादेशी कंपनी को मेल किए गए, लेकिन कोई जवाब नहीं मिलता था। अब जवाब मिला है तो एयरपोर्ट प्रबंधन ने राहत की सांस ली है।

रायपुर एयरपोर्ट प्रशासन ने बंग्लादेशी कंपनी को लीगल नोटिस भेजा था। उसके बाद कंपनी ने विमान बेचकर रायपुर एयरपोर्ट का बकाया चुकाने का वायदा किया है। पांच साल में पार्किंग चार्ज के रूप में कंपनी पर डेढ़ करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया है। लीगल नोटिस के बाद कंपनी ने वादा किया है कि हम अपनी विमान को बेचकर पार्किंग चार्ज चुका देंगे।

कैसे यहां पहुंचा विमान

दरअसल, 7 अगस्त 2015 को ढाका से मस्कट जा रहे इस विमान का इंजन फेल हो गया था। इसमें 173 यात्री सवार थे। राजधानी रायपुर से करीब 90 किलोमीटर दूर बेमेतरा में एक हिस्सा आग लगने की वजह से टूटकर खेत में गिर गया था। उसके बाद पायलट ने एटीसी से संपर्क कर इमरजेंसी लैडिंग की इजाजत मांगी थी। अनुमति मिलने के बाद रायपुर एयरपोर्ट पर इसकी लैंडिग हुई थी। यात्रियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था। उस वक्त विमान कंपनी के लोगों ने कहा था कि हम जल्द ही इसे वापस ले जाएंगे।

यह विमान बांग्लादेश की यूनाइटेड एयरवेज का एमडी-83 है। अभी रायपुर एयरपोर्ट के एप्रेन एरिया में विमान खड़ा है। कंपनी बीच में एक या दो बार इसकी सुध जरूर ली, लेकिन वापस ले जाने की दिशा में कोई पहल नहीं की है। इसका साथ ही रायपुर एयरपोर्ट का बकाया किराया दिया है। एयरपोर्ट प्रबंधन इन्हें लगातार रिमांइडर मेल डाल रहा था, मगर जवाब नहीं आता था।

विमान बेचकर किराया का भुगतान करेगी विमानन कंपनी

यूनाइटेड एयरवेज कंपनी की तरफ से आए जवाब के बाद एयरपोर्ट प्रबंधन ने राहत की सांस ली है। कंपनी की तरफ से कहा गया है कि हम जल्द ही विमान बेचकर किराया चुकाएंगे। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इस विमान के हटने के बाद एप्रेन एरिया में जगह खाली हो जाएगी।

More from रायपुरMore posts in रायपुर »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *