Press "Enter" to skip to content

PM Awas Yojana: घर बैठे पता कर सकते हैं अपने पीएम आवास आवेदन का स्टेटस…ये है आसान तरीका

अगर आपकी आय कम है और आप नया घर लेने के बारे में सोच रहे हैं तो प्रधानमंत्री आवास योजना आपकी मदद कर सकती है। इस सरकारी स्कीम के जरिए आप सरकार से 2.60 लाख तक की मदद प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा यदि आपने हाल ही में अपना पहला फ्लैट या घर खरीदा है, तो इस योजना के तहत आप ब्याज सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं। यह सब्सिडी आपके घर या फ्लैट की लागत को कम करेगी। यदि आपने इस योजना के तहत ब्याज सब्सिडी पाने के लिए आवेदन किया है, तो आप घर बैठे अपने आवेदन का स्टेटस जान सकते हैं।

क्या है आवेदन का स्टेटस जानने का तरीका

सबसे पहले https://pmayuclap.gov.in/ पर लॉग ऑन करें। अब Application ID के ऑप्शन पर अपनी क्लैप आईडी दर्ज करें। यह क्लैप आईडी आपकों बैंक की तरफ से दी जाती है। इसके बाद ‘Get Status’ पर क्लिक करें। अब आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा। ओटीपी वेरिफाई कराने के बाद आपको अपने आवेदन का स्टेटस पता चल जाएगा।

कैसे पता करें, कहां तक पहुंचा है आपका आवेदन

वेबसाइट में दिखाए जा रहे रिजल्ट में आपको कुल पांच स्टेज दिखाई देंगे। आपका आवेदन जिस स्टेज में होगा उससे पहले तक के सभी स्टेज हरे रंग में दिखाई देंगे। अगर पहला चरण हाईलाइट होता है, तो आपका एप्लीकेशन जेनरेट हो चुका है। दूसरे स्टेज का मतलब है कि आपको लोन देने वाले बैंक या हाउसिंग फाइनेंस कंपनी ने आपके क्लेम की अपने स्तर पर जांच-पड़ताल कर ली है।

तीसरी स्टेज में हरा रंग दिखाी देने का मतलब है कि सेंट्रल नोडल एजेंसी पोर्टल पर क्लेम अपलोड किया जा चुका है। सब्सिडी के क्लेम को मंजूरी मिलती है या नहीं यह चौथे स्टेज में पता चलता है। अगर स्टेटस चेक करने पर पांचवां स्टेज भी ग्रीन दिखाई दे रहा है तो इसका मतलब है कि सरकार ने बैंक को सब्सिडी रिलीज कर दी है।

असेसमेंट आईडी से भी जान सकते हैं आवेदन का स्टेटस

अगर आपके पास असेसमेंट आईडी है, तो https://pmaymis.gov.in/ पर लॉग ऑन करें। यहां ‘Citizen Assessment’ का विकल्प चुनें। अब ड्रॉप डाउन लिस्ट में आपको ‘Track Your Assessment Status’ का ऑप्शन मिलेगा। इस ऑप्शन पर क्लिक करने करें। अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपका नाम, पिता का नाम और मोबाइल नंबर पूछा जाएगा। ये सभी जानकारियां देकर आप अपने आवेदन की स्थिति का पता लगा सकते हैं।

More from भारतMore posts in भारत »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *