छत्तीसगढ़जांजगीर चांपाभारत

सरपंच व सचिव पर 14 वें वित्त की राशि गबन करने का लगा आरोप…कलेक्टर एवं जिला पंचायत सीईओ से की गई शिकायत।

जांजगीर चांपा। ग्राम पंचायत अचानकपुर के पंच सहदेव लाल दिवाकर ने बताया कि सरपंच वंदना हेमंत सिंह एवं सचिव हितेश साहू ने 14 वें वित्त की राशि में व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी की है।

उन्होंने बताया कि कार्तिक राम मैत्री के घर के पास (डड़ाई) मे बोर खनन और मोटर पंप स्थापना के लिए 1,65,000 रुपए बिना मूल्यांकन एवं सत्यापन के भुगतान अभिषेक इंटरप्राइजेज सक्ती को किया गया है। जिसमें बोर खनन व मोटर पंप की दर में बडी़ मात्रा में हेराफेरी की गई।

उक्त कार्य मौके पर 65,000 रुपए से ज्यादा का नहीं है, किंतु सरपंच व सचिव ने आपसी सांठगांठ कर बैठक के बाद फर्जी तरीके से प्रस्तावित किया है।

इसी प्रकार हेमंत गुड्डू के घर के पास अचानकपुर में हैंडपंप खनन के नाम पर 1,00,000 रुपए आहरण किया गया है, जबकि जनपद पंचायत शक्ति में 50,000 हजार रुपए से ऊपर की राशि के लिए मूल्यांकन सत्यापन अनिवार्य कर दिया गया है किंतु सरपंच और सचिव ने यहां भी नियम और कानून को दरकिनार कर दिया है।

ग्राम डड़ाई के बस स्टैंड में बोर खनन का कार्य जो पूर्व में हो चुका है, सिर्फ मोटर पंप हेतु 70,500 रुपए आहरित कर बिना GST बिल के भुगतान कर दिया गया है।

उन्होंने आगे बताया कि हैंडपंप मरम्मत के नाम पर तीन बार फर्जी कार्य का भुगतान किया गया है, जबकि ग्राम पंचायत अचानकपुर द्वारा सिर्फ एक बार ही प्रस्ताव पारित किया गया था।

जिसकी राशि क्रमशः 23100 रुपए,17900 रुपए,12000 रुपए की राशि आहरित की गई है, जबकि काम के नाम पर खानापूर्ति की गई है।

ग्राम पंचायत अचानकपुर में सरपंच और सचिव ने मिलकर व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार 14वें वित्त की राशि मे की है, जिसे लेकर ग्राम पंचायत अचानकपुर के पंच सहदेव लाल दिवाकर ने कलेक्टर एवं जिला पंचायत सीईओ को लिखित में शिकायत कर शीघ्र से शीघ्र जांच कर  उचित कार्यवाही करने की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *