Press "Enter" to skip to content

5 हजार से शुरू हो रही SBI की नई स्कीम…FD से होगा डबल मुनाफा…मुफ्त में 50 लाख का बीमा भी

नई दिल्ली। नए साल पर एसबीआई म्‍यूचुअल फंड ने रिटायरमेंट बेनेफिट फंड लॉन्‍च किया है। रिटायरमेंट सेविंग करने की चाहत रखने वाले प्रोफेशनल और नॉन-सैलरीड लोग एसबीआई म्‍यूचुअल फंड की नई स्‍कीम में निवेश मोटा मुनाफा हासिल कर सकते हैं। इस नए फंड ऑफर में 3 फरवरी तक निवेश किया जा सकता है। एसबीआई रिटायरमेंट बेनिफिट फंड, एक सॉल्‍यूशन ओरिएंटेड फंड है, जो रिस्‍क प्रोफाइल में 4 योजनाएं आफर कर रही है। इस स्‍कीम में एसआईपी के जरिए निवेश करने वालो को 50 लाख रुपये तक का टर्म इंश्‍योरेंस कवर भी मिल रहा है। एसबीआई के इस नए फंड ऑफर में और भी कई तरह फायदे हैं।जैसे डिविडेंड ऑप्शन में SWP की सुविधा और तिमाही आधार पर विद्ड्रॉल की सुविधा है।

SBI म्युचूअल फंड अपने ग्राहकों को 50 लाख रुपये तक का इंश्योरेंस भी दे रहा है। कोई भी 3 साल और उससे अधिक की अवधि के लिए एसबीआई रिटायरमेंट बेनिफिट फंड के तहत रजिस्‍टर्ड निवेशक टर्म इंश्योरेंस कवर का ऑप्शन चुन सकता है। इससे किसी दुर्घटना होने की स्थिति में नॉमिनी को 50 लाख रुपये तक का लाभ मिलेगा। एसआईपी इंश्‍योरेंस की खासियत यह है कि पहले तीन साल में बीमा कवर बढ़ेगा। आपको बता दें कि जो लोग तीन साल से ज्‍यादा अवधि के लिए सिप के जरिये रजिस्‍टर कराएंगे, उन्‍हें मुफ्त लाइफ इंश्‍योरेंस कवर भी उपलब्‍ध कराया जाएगा।

अगर आसान शब्दों में कहें तो ये एक एनएफओ यानी न्यू फंड ऑफर है। इस स्कीम का नाम एसबीआई रिटायरमेंट बेनिफिट फंड सॉल्‍यूशन ओरिएंटेड स्‍कीम है। इसमें 3 फरवरी तक पैसा लगाया जा सकता है। निवेशक कम से कम 5,000 रुपये के साथ शुरुआत कर सकता है। एनएफओ किसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी की नई स्कीम होती है। इसके जरिए कोई म्यूचुअल फंड कंपनी शेयरों, सरकारी बॉन्ड जैसे इंस्ट्रूमेंट में निवेश करने के लिए निवेशकों से पैसे जुटाती है। SBI म्‍यूचुअल फंड की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक, इस स्‍कीम के मैनेजमेंट गौरव मेहता (इक्विटी यानी शेयर बाजार), दिनेश आहूजा (फिक्‍स्‍ड इनकम) और मोहित जैन (फॉरेन सिक्‍योरिटीज यानी विदेशी शेयर बाजार और बॉन्ड्स) मिलकर करेंगे।

यह फंड चार इंवेस्‍टमेंट प्‍लान ऑफर करता है। इनमें एग्रेसिव (इक्विटी ओरिएंटेड यानी शेयर बाजार पर आधारित), एग्रेसिव हाइब्रिड (इक्विटी ओरिएंटेड यानी शेयर बाजार पर आधारित), कंजर्वेशन हाइब्रिड (डेट ओरिएंटेड यानी बॉन्ड्स पर आधारित) और कंजर्वेटिव (डेट ओरिएंटेड यानी बॉन्ड्स पर आधारित) शामिल हैं। शेयर बाजार और बॉन्ड मार्केट के अलावा हर एक प्‍लान में गोल्‍ड ईटीएफ में 20 फीसदी तक, REIT/InVIT में 10 फीसदी तक निवेश करने की तैयारी है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि म्युचूअल फंड्स में पैसा लगाने वालों को यहां एफडी से ज्यादा रिटर्न मिलेगा। अगर आसान शब्दों में कहें तो म्युचूअल फंड्स में सालाना 10 फीसदी तक का मुनाफा आसानी से हो जाता है। जबकि, एफडी पर अभी सिर्फ 5 फीसदी सालाना रिटर्न मिल रहा है।

एसबीआई म्युचूअल फंड्स निवेशक ‘माई च्‍वाइस’ फैसिलिटी के तहत अपनी मर्जी से ऑप्शन चुन सकते हैं। उन्हें उन्‍हें किस प्‍लान में निवेश करना है। एसबीआई रिटायरमेंट बेनिफिट फंड कई तरह के फीचर ऑफर कर रहा है। इसमें उम्र के अनुसार रिटायरमेंट कॉरपस को उपयुक्‍त इंवेस्‍टमेंट प्‍लान को ट्रांसफर करने की भी सहूलियत दी गई है।

More from भारतMore posts in भारत »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *