Press "Enter" to skip to content

3 साल की मासूम के मुंह में अंडा डालकर किया था रेप…नाबालिग आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। धरसींवा पुलिस ने तीन साल की मासूम से रेप मामले मामले में एक नाबिलग आरोपी को गिरफ्तार किया है. नाबालिग आरोपी ने सांकरा स्थित फैक्ट्री में 3 साल की मासूम से रेप की वारदात को अंजाम दिया था. वारदात के बाद नाबालिग आरोपी फरार हो गया था, लेकिन पुलिस ने बिलासपुर से धर दबोचा.

यह भी पढ़े: एक साल तक नहीं बढ़ेंगी जमीन की गाइडलाइन दरें…पंजीयन शुल्क में भी जारी रहेगी छूट…सीएम भूपेश बघेल ने दी प्रस्ताव को मंजूरी

मुंह में अंडा डालकर दुष्कर्म

दरअसल, आरोपी ने बीते दिन 29 मार्च को 3 साल की मासूम के मुंह में अंडा डालकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था. वारदात के बाद आरोपी फरार हो गया था. फैक्ट्री में मजदूरी करने वाले मध्यप्रदेश के श्रमिक परिवार की बच्ची थी. दोपहर को जब बच्ची धरसीवां के सांकरा स्थित घंटी मशीन फैक्ट्री के अंदर खेल रही थी. तभी वहशी दरिंदे ने वारदात को अंजाम दिया और मौके से फरार हो गया था.

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़ मे तापमान पहुंचा 41 डिग्री सेल्सियस…लू से बचने के लिए अपनाएं ये तरीका

बिलासपुर से नेपाल भागने की फिराक में था आरोपी

पुलिस को मामले की जानकारी मिली. पुलिस आरोपी की सरगर्मी से तलाश कर रही थी. पुलिस ने मुखबिर से सूचना के बाद बिलासपुर से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी बिलासपुर से नेपाल भागने की फिराक में था, लेकिन पुलिस ने आरोपी के मंसूबे पर पानी फेर दिया. नाबालिग आरोपी मध्यप्रदेश के मंडला जिले का रहने वाला है.

यह भी पढ़े: कलेक्शन सेंटर की आड़ मे किया जा रहा है श्री पैथोलैब का संचालन…शौचालय व पानी की नहीं कोई व्यवस्था…BMO से की गई शिकायत

ICU में बच्ची

मिली जानकारी के मुताबिक मासूम बेटी का रायपुर जिला अस्पताल में इलाज जारी है. बच्ची ICU में है. फरार आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया गया है. साइबर टीम, धरसींवा पुलिस और सिलतरा चौकी पुलिस ने मिलकर आरोपी को गिरफ्तार किया है. पुलिस आरोपी को बिलासपुर से रायपुर लेकर आ गई है.

यह भी पढ़े: 10 अप्रैल से शुरू होंगी 12 स्पेशल ट्रेनें…कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से करना होगा पालन

सवालों के घेरे में फैक्ट्री संचालक

हैरान करने वाली बात ये है कि फैक्ट्री में नाबालिग मजदूरी कर रहा था. इसी बीच वारदात को अंजाम दिया था. नाबालिग को फैक्ट्री में काम पर कैसे रख लिया गया, जबकि नाबालिग से काम कराना अपराध है. बावजूद इसके नाबालिग से काम कराया जा रहा था. अब फैक्ट्री संचालक भी सवालों के घेरे में है. नाबालिग को काम में नहीं रखता, तो इतनी बड़ी वारदात नहीं होती.

यह भी पढ़े: राज्य निर्वाचन आयुक्त ने 13 नगरीय निकायों में निर्वाचन की प्रारंभिक तैयारियों की समीक्षा की

More from रायपुरMore posts in रायपुर »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *