बिलासपुर

खाद्य निरीक्षक का एग्जाम देने गए युवक ने की चोरी: मौका मिलते ही परीक्षा सेंटर से उड़ा लिया मोबाइल…CCTV में कैद हुई वारदात

बिलासपुर। जिले में व्यावसायिक परीक्षा मंडल की ओर से आयोजित फूड इंस्पेक्टर परीक्षा में शामिल होने आए परीक्षार्थी की नीयत बिगड़ गई और उसने दो मोबाइल ही पार कर दिया। इधर, परीक्षा के बाद वे प्रतियोगी परेशान होते रहे, जिनका मोबाइल गायब हुआ था। चोरी की ये पूरी वारदात CCTV कैमरे में कैद हो गई है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

रविवार को व्यावसायिक परीक्षा मंडल ने फूड इंस्पेक्टर भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित की थी। इसके लिए तिलक नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर को भी परीक्षा सेंटर बनाया गया था। यहां चकरभाठा थाना क्षेत्र के कड़ार निवासी छात्रा आयुषी दुबे व तिल्दा निवासी छात्र लोकेश वर्मा परीक्षा देने आए थे। लोकेश मंगला चौक के पास रह कर कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कर रहा है। परीक्षा हाल में जाने से पहले परीक्षार्थियों को एडमिट कार्ड,आधार कार्ड व पेन के अलावा अपने साथ लाए मोबाइल और बैग को रखने के लिए स्टोर रूम बनाया गया था। सभी प्रतियोगियों की तरह आयुषी दुबे व लोकेश वर्मा ने भी अपने बैग स्टोर रूम में रख दिए। परीक्षा देने के बाद जब वे बाहर निकले, तब बैग से उनका मोबाइल गायब मिला।

CCTV कैमरे में कैद हुई युवक की हरकत

दोनों प्रतियोगी बैग से अपने मोबाइल गायब देखकर हैरान रह गए। उन्होंने इसकी शिकायत केन्द्राध्यक्ष से की। तब केंद्राध्यक्ष ने स्टोर रूम में लगे CCTV कैमरे से फुटेज चेक किया। कैमरे में एक संदेही युवक बारी-बारी से दो बैगों से मोबाइल निकालता दिखा। फुटेज में कैद प्रतियोगी के चेहरे का मिलान उसके एडमिट कार्ड हाथ में लेकर खींची गई तस्वीर से किया गया। तब उसकी पहचान बलौदाबाजार के कटगी निवासी हितेश कुमार श्रीवास पिता हेतराम श्रीवास के रूप में की गई। इसी फोटो के जरिए पुलिस युवक तक पहुंच पाई।

जांच करने की बात कहती रह गई सिविल लाइन पुलिस

एडमिट कार्ड से युवक की पहचान होने के बाद दोनों प्रतियोगी सिविल लाइन थाने। यहां उन्होंने पुलिस से मोबाइल दिलाने के लिए मदद मांगी। पुलिस उनकी शिकायत पर जांच करने और युवक को पकड़कर लाने की बात कहती रही। लेकिन, बलौदाबाजार जाने के लिए उन्हें टाइम नहीं मिला।

SP दीपक झा ने बिना FIR के दिला दिया मोबाइल

प्रतियोगी आयुषी और लोकेश वर्मा ने चोरी की FIR दर्ज कराने के बजाए अपना मोबाइल वापस दिलाने की मांग कर रहे थे। क्योंकि, मोबाइल लेकर जाने वाले युवक की पहचान हो गई थी। इस बीच किसी तरह उन्होंने बलौदाबाजार SP दीपक झा से संपर्क किया और उन्हें CCTV फुटेज भेज कर युवक की जानकारी दी। उन्होंने बिना केस दर्ज किए ही प्रतियोगियों की मदद की और उनका मोबाइल वापस करा दिया। मोबाइल लेकर जाने वाले युवक ने भी अपनी गलती मानी और भविष्य में ऐसी हरकत नहीं करने की बात कही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *