Press "Enter" to skip to content

कोरोना वैक्सीनेशन का तीसरा फेज: छत्तीसगढ़ के 100 अस्पतालों में आज से बुजुर्गों को लगेगा टीका…प्राइवेट हॉस्पिटल में देनें होंगे 250 रु.

कोरोना टीकाकरण का तीसरा फेज 1 मार्च से शुरू हो रहा है। इस चरण में 45 से 59 साल के ऐसे लोगों को टीका लगाया जाएगा जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं। साथ ही 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों को भी यह टीका लगाया जाना है। छत्तीसगढ़ में 100 अस्पतालों को इस चरण के टीकाकरण के लिए चुना गया है।

इसे भी पढ़े: देश में कोरोना को लेकर बड़ी चेतावनी: तीसरी लहर आई तो वह होगी अधिक खतरनाक…जानिये क्यों कहा CSIR ने ऐसा

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने बताया कि टीकाकरण के पहले सप्ताह में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से जुड़े प्रदेश के 40 निजी अस्पतालों को वैक्सीनेशन के लिए चुना गया है। प्रत्येक जिले में जिला अस्पताल, यहां मेडिकल कॉलेज हैं वहां मेडिकल कॉलेज और एक अतिरिक्त सरकारी स्वास्थ्य केंद्र को शासकीय सुविधा केंद्र के रूप में चुना गया है। सरकारी अस्पतालों में यह टीका नि:शुल्क होगा। लेकिन निजी अस्पतालों में इसके लिए 250 रुपये देने होंगे। 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों की संख्या 60 लाख के करीब मानी जा रही है। गंभीर रूप से बीमार 45 वर्ष से 59 वर्ष तक के लोगों का सरकार के पास कोई पुख्ता अनुमान नहीं है।

इसे भी पढ़े: Bilasa Airport Bilaspur: देश के हवाई नक्शे पर आज से बिलासपुर भी

राज्य टीकाकरण अधिकारी ने बताया, निजी अस्पतालों में केवल ऑनलाइन पंजीयन के बाद ही टीका लगेगा। इसके लिए कोविन एप अथवा आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल करना होगा। एप खोलने पर वहां अस्पताल और टीकाकरण के लिए खाली दिन और समय का चुनाव खुद किया जा सकता है। सरकारी अस्पतालों में लोगों को टीकाकरण केंद्रों के काउंटर पर जाकर पंजीयन कराना होगा। राज्य सरकार अपनी ओर से भी टीकाकरण के इस चरण के लिए पात्र लोगों का चयन कर पंजीकरण कराएगी। इसके लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, मितानिनों, पटवारियों और स्व-सहायता समूहों की मदद से समूहों का पंजीकरण होगा। इसमें पेंशनरों का वर्ग हो सकता है। एक वार्ड के व्यक्तियों का वर्ग हो सकता है, अथवा किसी कार्यसमूह का वर्ग बनाया जा सकता है।

इसे भी पढ़े: घट सकती हैं पेट्रोल की कीमतें…जनता को जल्दर मिलेगी राहत…सरकार ने दिए ये संकेत

रायपुर के इन अस्पतालों में होगा बुजुर्गों का टीकाकरण

जवाहर लाल नेहरु मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल पंडरी, आयुर्वेद कॉलेज, छत्तीसगढ़ हास्पीटल चौबे कॉलोनी, आरोग्य हास्पीटल शंकर नगर, श्रीदानीकेयर हॉस्पीटल, सेजबहार पुराना धमतरी रोड, श्रीहरिकिशन हास्पीटल कर्मा चौक, रामनगर और विद्या हास्पीटल, शंकर नगर।

इसे भी पढ़े: ऐश्‍वर्या राय की तरह दिखने वाली इस लड़की की तस्वीरें खूब हो रही वायरल…जानिये कौन हैं ये हमशक्ल

पंजीयन के लिए इन दस्तावेजों की जरूरत होगी
टीका लगाने के इच्छुक व्यक्तियों को अपने साथ फोटोयुक्त पहचानपत्र लाना होगा। इसमें आधार कार्ड, निर्वाचक पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, NPR कार्ड, फोटो लगा पेंशन दस्तावेज शामिल है। 45 वर्ष से 59 वर्ष के आयु समूह के लोगों को गंभीर बीमारी का प्रमाण पत्र (पंजीकृत डॉक्टर से हस्ताक्षरित) लाना होगा।

इसे भी पढ़े: रायपुर पुलिस ने बचाई युवती की जान…सुसाइड करने से रोका

इन बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष से अधिक आयु वालों को टीका

  • पिछले एक वर्ष में हर्ट फेल्योर की वजह से अस्पताल में भर्ती हुए हों।
  • पोस्ट कॉर्डियक ट्रांसप्लांट
  • सिग्नीफिकेंट लेफ्ट वेंटीकुलर सिस्टाेलिक डिस्फंक्शन
  • मॉडरेट वैल्व्यूलर हर्ट डिजिज
  • कोरोनरी आर्टरी डिजिज एंड हाइपरटेंसन, डाइबिटिज ऑन ट्रीटमेंट
  • एंजाइना एंड हाइपरटेंसन, डाइबिटिज ऑन ट्रीटमेंट
  • कांग्जेनाइटल हर्ट डिजिज
  • CT/MRI डॉक्यमेंटेड स्ट्रोक

इसे भी पढ़े: छत्तीसगढ़: कांग्रेस नेता ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या…जांच मे जुटी पुलिस

  • पॅलमनरी आर्टरी हाइपरटेंसन एंड हाइपरटेंसन/डाइबिटिस ऑन ट्रीटमेंट
  • डाइबिटीज विथ कॉम्प्लीकेशन
  • किडनी, लीवर, हिमेटोपोएटिक स्टेम सेल ट्रांसप्लांट
  • इंड स्टेज किडनी डिजिज
  • इम्यूनोसप्रेसेंट मेडिकेशन
  • डीकंपेस्टेड सिरोसिस
  • सेविर रेस्पीटरी डीजिज विथ हॉस्पीटलाइजेशन इन लास्ट टू इयर
  • लिम्फोमा,ल्यूकेमिया, माइलोमा
  • कैंसर
  • सिकल सेल, बोन मैरो फेलर, एप्लास्टिक एनिमिया, थैलेसेमिया मेजर
  • प्राइमरी इम्यूनोडिफिसिएंसी डिजिज, HIV इंफेक्शन
  • पर्सन विथ इंटेलेक्चुअल डिसएबिलिटी, मस्क्युलर डिस्ट्राफी, एसिड अटैक विथ इन्वॉलवमेंट ऑफ रेस्पिरेटरी सिस्टम, डिसएबिलिटी विथ हाई सपोर्ट नीड, मल्टीपल डिसएबिलिटी इंन्कुलिडिंग डीफ एंड ब्लाइंडनेस

इसे भी पढ़े: एक इनामी समेत तीन नक्सलियों ने किया सरेंडर…एसपी अभिषेक पल्लव के समक्ष किया समर्पण

टीका लगवाने से छूट गये स्वास्थ्य कर्मी भी लगवा सकेंगे

इस चरण में उन स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दोबारा मौका दिया जाएगा जिन्होंने पहले चरण में टीका नहीं लगवाया था। वे किसी केंद्र पर पहुंचकर पंजीयन करा सकेंगे। इसके लिए उन्हें अपना रोजगार प्रमाणपत्र और विभाग का आधिकारिक पहचानपत्र लाना होगा।

इसे भी पढ़े: 19 मेडिकल फर्मों के लाइसेंस निरस्त…6 दुकानें 15 दिन के लिए निलंबित…खाद्य एवं औषधि प्रशासन की बड़ी कार्रवाई…देखें सूची

More from रायपुरMore posts in रायपुर »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *