Press "Enter" to skip to content

महिला टीचर ने 13 साल के छात्र से रचाई शादी…सुहागरात के बाद हो गई विधवा…जानिए वजह

Manglik Dosh: दुनिया जहां साइंस और टेक्नोलॉजी में आगे बढ़ रही है। वहीं दूसरी तरफ अंधविश्वास अब भी लोगों के मस्तिष्क पर घर बनाया हुआ है। अब पंजाब (Punjab) के जालंधर (Jalandhar) में बड़ा हैरान करने वाला सामने आया है। यहां के बस्ती बावा खेल इलाके (Basti Bawa Khel Area) में महिला टीचर ने अपने 13 साल के स्टूडेंट के साथ जबरन शादी रचा ली। हैरान करने वाली बात है कि पढ़ी लिखी ट्यूशन शिक्षक (Tuition Teacher) ने सिर्फ मांगलिक दोष (Manglik Dosh) खत्म करने ऐसा किया। उसका मानना था कि ऐसा करने से विवाह जल्द हो जाएगा। छात्र के परिजनों को इस घटना के बारे में पता चला तो उन्होंने ट्यूशन टीचर के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार पहले महिला शिक्षक ने स्टूडेंट को पढ़ाने का लालच दिया था। उसने लड़के के माता-पिता को बताया कि उनके बेटे को एक सप्ताह उसके घर रहना होगा। इस दौरान शिक्षक ने अपने काम को अंजाम दिया। दरअसल छात्र के परिवार वाले आर्थिक रूप से कमजोर हैं। इसलिए महिला ने परिजनों से स्टूडेंट को कुछ दिनों के लिए मेहनत से पढ़ाई करने के लिए अपने घर पर छोड़ने के लिए मना लिया।

रिपोर्ट के मुताबिक छात्र को 6 दिनों तक जबरन घर में रखकर विवाह की सारी रस्में निभाई गई। हल्दी-मेहंदी और सुहागरात का नाटक भी किया। यहां तक की पांच दिन तक दोनों पति-पत्नी की तरह रहे। फिर 5 दिन बाद पंडित के कहने पर चूड़िया तोड़कर विधवा बनने का ढोंग रचाया। शादी की सारी रस्में पूरी होने के बाद जब छात्र घर पहुंचा तो उसने घर वालों को पूरी बात बताई। फिर परिवार वालों ने पुलिस में टीचर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। मामला थाने पहुंचा तो लेडी टीचर भी परिवार के साथ स्टेशन पहुंच गई और मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की। उसके बाद लड़के के घरवालों ने शिकायत वापस ले लिया।

More from भारतMore posts in भारत »

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *